arch bridge

BEST No1Tourist Places to Visit in East Godavari District

आंध्र प्रदेश राज्य के गोदावरी जिले  के अंतर्गत पर्यटक स्थल Godavari bridge | गोदावरी ब्रिज, Coringa wildlife sanctuary | कोरिंगा वन्यजीव अभयारण्य

हेलो दोस्तों कैसे हैं आप सब उम्मीद करता हूं कि आप लोग बहुत ही अच्छे होंगे। तो पिछले पोस्टों में हमने बहुत सारे आंध्र प्रदेश जिले के घूमने वाले या पर्यटक स्थल के बारे में बताया था जिसका लिंक नीचे दिया गया है। आज की इस पोस्ट में हम आपको आंध्र प्रदेश के, east godavari जिला के पर्यटक स्थल के बारे में बात करेंगे। जोकि पर्यटन के लिए बहुत ही ज्यादा प्रसिद्ध माना जाता है, सबसे पहले हम ईस्ट godavari जिले के बारे में जानेंगे उसके बाद वहां पर पर्यटन स्थल के बारे में जानेंगे और वहां होने वाली सुविधा सुविधा के बारे में भी जानेंगे।

east godavari
east godavari

East Godavari आंध्र प्रदेश का एक जिला है जोकि तटीय आंध्र क्षेत्र के अंतर्गत आता है, इस जिले का मुख्यालय काकीनाडा में स्थित है जिले में 7 वित्तीय विभाग हैं 62 प्रमंडल परिषद और 64 तहसील हैं, पूर्व godavari जिला को 19 विधानसभा क्षेत्र में बांटा गया है। इस जिले में 1059 ग्राम पंचायत हैं। यह संख्या आगे बढ़ भी सकती है यह नियम वहां के प्रशासन के ऊपर निर्भर करता है। पूर्व गोदावरी जिले के अंतर्गत एक मुख्य रेलवे स्टेशन राजमुंद्री रेलवे स्टेशन है और यहां राजमुंद्री हवाई अड्डा भी स्थित है। पूर्वी गोदावरी जिले से होकर बहने वाली नदी का नाम गोदावरी,पम्पा,ठंण्डवा, और एलेरू नदी इस जिले से होकर बहती है।

east godavari pin code

वैसे तो देखा जाए तो भारत के हर एक राज्य में या विश्व के प्रत्येक राज्य में अलग-अलग जगह का अलग-अलग पिन कोड होता है फिर भी वहां का कुछ पीन-series होता है जोकि सेम होता है और लास्ट का डिजिट चेंज होता है ठीक इसी प्रकार पूर्व godavari जिले के साथ भी है इसका आगे का 3 डिजिट पिन नंबर 533 है आगे अलग-अलग जगह के हिसाब से पोस्टल कोड नंबर दिया जाता है जब हम आगे स्थल के बारे में बात करेंगे तो। वहां उस जगह का पिन नंबर अंकित करेंगे।

East Godavari history

इस जिले का इतिहास मौर्य साम्राज्य के समय से ही चलता आ रहा है, जब मौर्य समाज कमजोर हुआ तो यहां का हिस्सा सातवाहन वंश के शासकों के अधीन हो गया था। पूर्व godavari कुछ समय के लिए मराठा साम्राज्य के अधीन भी रहा था फिर चालुक्य, चोल वंश के अधीन रहा था। इसके बाद या हैदराबाद के निजाम के अधीन आ गया और शाह आलम उस समय दिल्ली का सुल्तान था। अब हम चलते हैं इस जिले के स्थल के बारे में जानने के लिए। जो कि बहुत ही ज्यादा रोचक और दिलचस्प होने वाला है आप जब कभी भी आंध्र प्रदेश का दौरा करें तो आप एक बार पूर्वी गोदावरी जिले जरूर आएं ताकि यहां के वातावरण और यहां के पर्यटक स्थल को अच्छी तरीके से देख सके। आज हम konaseema, Godavari bridge, Godavari arch bridge के बारे में जानेंगे और भी पर्यटक स्थल के बारे में जानेंगे पहले इसके बारे में जान लेते हैं उसके बाद आगे की बात आगे चर्चा करेंगे।

konaseema

यह आंध्र प्रदेश के पूर्वी गोदावरी जिले में स्थित है,जो पर्यटन की दृष्टि से यह या जगह बहुत ही ज्यादा प्रसिद्ध है यहां देखने लायक बहुत सारे जगह हैं।जैसे कि कोना सीमा गौतमी, और वशिष्ठा नदी से बने डेल्टा यह जगह अपनी सुंदरता के लिए काफी प्रसिद्ध है जब भी आप कोनासीमा आए तो यहां की गोदावरी नदी में वोट की सवारी बहुत ही ज्यादा प्रसिद्ध है,आप एक बार जरूर सवारी करें। कोनासीमा इको-टूरिज्म के लिए बहुत ही ज्यादा प्रसिद्ध माना जाता है जोकि राजामुंदरी के भागदौड़ भरी जिंदगी से जुड़ा हुआ है। आप इस जगह को एक बार घूमने के बाद आप दोबारा आने के लिए चाहेंगे यहां का वातावरण ही कुछ बहुत ही ज्यादा प्रकृति पर आधारित है और यहां शांति भी बहुत अधिक है कुछ आराम के पल बिताने के लिए बहुत सारे विकल्प यहां मिल जाते हैं।

Godavari bridge

गोदावरी पुल भारत के राज्य राजमुंद्री गोदावरी नदी पर बनाया गया है गोदावरी ब्रिज को राजामुंदरी फूल के नाम से भी जाना जाता है जो कि जल के ऊपर एशिया का दूसरा सबसे बड़ा सड़क रेल पुल है इस ब्रिज पर ट्रेन यानी रेलगाड़ी और सड़क दोनों बनाया गया है। इस पुल की लंबाई लगभग 2.7 किलोमीटर लंबा है।

old godavari bridge
old godavari bridge

Godavari arch bridge

इस ब्रिज को 1997 में बनाया गया था, यह ब्रिज विश्व के सबसे बड़े आर्च ब्रिज में से एक माना जाता है। आज ब्रिज के बगल में पहले के जमाने में जब यह ब्रिज चालू नहीं हुई थी, उस समय बगल वाले ब्रिज का उपयोग रेल को नदी पार करने के लिए उपयोग किया जाता था। या ब्रिज का नजारा देखने में बहुत ही ज्यादा प्यारा और बहुत ही खूबसूरत लगता है|

इस ब्रिज को घूमने के लिए शाम के समय बहुत ही ज्यादा अच्छा लगता है। इस ब्रिज के नीचे श्रद्धालु गोदावरी नदी का स्नान करते हैं और यहां के प्राकृतिक अद्भुत नजारे का आनंद लेते हैं। इस ब्रिज के कुछ ही कुछ दूरी पर तीन ब्रिज देखने को मिलते हैं सबसे खास ब्रिज गोदावरी आर्च ब्रिज को ही माना जाता है। यहां बेटा काटकर इसके डिजाइन और नीचे श्रद्धालु गोदावरी स्नान करते हैं।

 arch bridge
arch bridge

तो दोस्तों हमने यह तीनों जगह के बारे में जानकारी ले लिए अब आगे की जानकारी coringa wildlife sanctuary और nature & wildlife areas एवं coringa wildlife sanctuary Kakinada के बारे में जानेंगे जो कि देखने में बहुत ही ज्यादा मजेदार और दिलचस्प लगेगा तो चलते हैं इसके बारे में जानने की कोशिश करते हैं।

Coringa wildlife sanctuary

इस वाइल्ड लाइफ सेंचुरी का कुछ इतिहास के बारे में जानते हैं। Coringa wildlife sanctuary tourism मैं दिलचस्प रखने वाले व्यक्ति के लिए यह स्थान काफी मनोरंजक होगा। यहां की समृद्ध वन संपदा को देखते हुए इस स्थान को 1978 में सेंचुरी नाम दिया गया था। कोरिंगा वाइल्डलाइफ सेंचुरी करीब 235.7 किलोमीटर क्षेत्र में फैली हुई है। यह सेंचुरी 120 से अधिक वाइल्ड लाइफ की प्रजाति का गढ़ मानी जाती है। पर्यटक यहां आने के बाद रोमांच के साथ साथ प्राकृतिक सौंदर्य का भी बहुत ही ज्यादा आनंद ले सकते हैं, इस वाइल्ड लाइफ सेंचुरी में मसलन गोदावरी नदी पर निर्मित जल में मछली पकड़ने के साथ-साथ नौका सवारी और स्पीड वोटिंग भी कर सकते हैं,और यहां पर जेट स्कीइंग का भी लुफ्त उठाया जा सकता है। कोरिंगा वाइल्डलाइफ आने वाले पर्यटकों के लिए यहां बहुत सारे दुर्लभ प्रजाति के पक्षी कभी दृश्य मिलता है जो कि बहुत ही ज्यादा आकर्षक होता है।कोरिंगा वन्‍यजीव अभयारण्य के मुख्य आकर्षण पक्षियों की प्रजातियां. इस सेंचुरी में पक्षियों की 120 से भी अधिक प्रजातियों आप देख सकते हैं, जिनमें फ्लेमिंगोज, सिगुल, व्हाइट बैक्ड वल्चर, लांग बिल्ड वल्चर, पेंटिड स्टोर्क, ग्रे हीरोन और लिटिल स्टिंट, ओपन बिल स्टोर्क आदि प्रमुख हैं।हैरान करते बिडाल. इस अभयारण्य में जंगल का राजा शेर, चीता और जैगुआर जैसे खूंखार जीव आपको हैरान कर देंगे जो कहीं सुस्साते दिखाई देंगे तो कहीं अपने शिकार का पीछा करते।

wildlife sanctuary tourism
wildlife sanctuary tourism

kakinada to coringa wildlife sanctuary

काकिनदा से वाइल्डलाइफ सेंचुरी की दूरी लगभग 19.4 किलोमीटर है। यहां आने के बाद आप जीप की सवारी सैलानी यहां जीत की सवारी करते हुए मजे से घूम रहे हैं इस विशालकाय सेंचुरी को करीब से देखा और जान सकते हैं।

बोट राइडिंग
वाइल्ड लाइफ सेंचुरी के अंदर कदम कदम पर प्रकृति की खूबसूरती का दृश्य देखने को मिलता है इस वाइल्ड लाइफ सेंचुरी को भारत की दूसरी सबसे वाइल्ड लाइफ सेंचुरी के रूप में माना जाता

coringa wildlife
coringa wildlife

coringa wildlife sanctuary timings

वाइल्ड लाइफ सेंचुरी सुबह 9:00 बजे से लेकर शाम 5:00 बजे तक खुली रहती है वैसे तो यहां का नजारा साल भर बहुत ही ज्यादा अच्छा रहता है लेकिन अक्टूबर से मार्च के बीच, पर्यटक के लिए बहुत ही ज्यादा अच्छा मौसम माना जाता है। क्योंकि इस समय में यहां उम्र नहीं होती है, जिसके कारण पशु पक्षी भी ज्यादा देखने को मिलते हैं। यह वाइल्ड लाइफ सेंचुरी मंगलवार को बंद रहती है।

coringa
coringa

कोरिंगा वन्‍यजीव अभयारण्य में कैसे पहुंचे
सड़क मार्ग. यह सेंचुरी सड़क मार्ग द्वारा दिल्ली, मुंबई, कोलकाता और बेंग्लुरु से अच्छी तरह जुड़ी हुई है,यहां तक पहुंचने के लिए इन शहरों से क्रमशः 1800 किमी, 1200 किमी, 1000 किमी और 900 किमी की दूरी तय करनी पर सकती है।

रेल मार्ग. काकीनदा रेलवे स्टेशन, यहां का निकटतम रेलवे स्टेशन है जो सेंचुरी से महज 15 किमी की दूरी पर स्थित है। गौतमी एक्सप्रेस, कोकानदा एक्सप्रेस और सरकार एक्सप्रेस यहां तक आने वाली कुछ प्रमुख ट्रेनें हैं। इनके अलावा अन्य ट्रेनों के जरिये पुणे, मुंबई, बेंग्लुरु, दिल्ली, लखनऊ औक कोलकाता जैसे शहरों से भी यहां आसानी से पहुंचा जा सकता है।

हवाई मार्ग. राजामुंद्री हवाई अड्डा, यहां का सबसे निकटतम हवाई अड्डा है जो सेंचुरी से 70 किमी की दूरी पर है। यहां के लिए विशाखापट्टनम हवाई अड्डे से उड़ानों की व्यवस्था है तथा नागपुर, हैदराबाद, पुणे, मुंबई, बेंग्लुरु और दिल्ली से भी यहां के लिए उड़ानों की व्यवस्था है।

wildlife sanctuary
wildlife sanctuary

हां तो दोस्तों दिए गए सारे जगहों के बारे में हमने तो जान लिया है अब चलते हैं आंध्र प्रदेश के नए जगह जिसका नाम maredumilli है इसके वाटर फाल्स के बारे में जानने के लिए जो कि बहुत ज्यादा रोचक होने वाला है। इस वाटरफॉल का नाम maredumilli waterfalls है।मारेडूमिली आंध्र प्रदेश के पूर्वी गोदावरी जिले में स्थित है जो कि राजमुंद्री से 90 किलोमीटर दूर होती है यहां लोग घूमने के लिए आते हैं। यहां कई सारे जलप्रपात और खूबसूरत जगह घूमने के लिए हैं, ज्यादातर फिल्मों की शूटिंग मारेडूमिली मैं ही की जाती है। maredumilli forest से घिरा हुआ है। यहां वाटरफॉल के आसपास maredumilli resorts पाए जाते हैं। ताकि पर्यटक को रहने एवं खाने की व्यवस्था बहुत ही ज्यादा आसानी से हो सके आसपास में बड़े-बड़े होटल भी हैं।

maredumilli tourist places

वैसे तो यहां का वाटरफॉल बहुत ही ज्यादा मशहूर है, और यहां के नेचर पार्क नेचर फॉरेस्ट इत्यादि बहुत ज्यादा पर्यटन के लिए काफी ज्यादा लोकप्रिय माना जाता है। नीचे कुछ वाटरफॉल और यहां के घूमने वाले जगहों के नाम दिए गए हैं और उनके आने-जाने की सुविधा के बारे में भी बताई गई है।
1 jalatharangini waterfalls
इस वॉटरफॉल्स की दूरी मारेडूमिली बस स्टैंड से लगभग 7 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है या पूर्वी गोदावरी जिला के गोदावरी नदी पर स्थित है। यह एक मौसमी जलप्रपात है और यह पूर्वी गोदावरी जिला के पर्यटन स्थल में से एक है।

tourist places
tourist places

2 amruthadhara falls
यह जलधारा पूर्वी गोदावरी जिले में स्थित है, यह भी एक मौसमी जलप्रपात है अमृतधारा जंगल और खड़ी चट्टानों के बीच मौसमी धारा बनकर ऊपर से गिरती है मानसून के दौरान या छोटा झरना पूरी तरह से उमस भरा होता है। यह जलधारा प्राकृतिक से जुड़े प्रेमियों के लिए स्वर्ग जैसा एहसास कराता है।

waterfalls
waterfalls

3 manyam viewpoint
यह व्यू प्वाइंट अमृतधारा और जलतरंगिणी झरनों के बीच स्थित हैं, मारेडूमिली घूमने के लिए सबसे अच्छी जगह मानी जाती है। यहां पर्यटक की सुविधा के लिए पर्यटन विभाग के द्वारा प्लेटफार्म बनाया गया है जो ऊंची पहाड़ियों, फूल वाली अल्पाइन झाड़ियों और जड़ी बूटी के साथ, या व्यू प्वाइंट काफी ज्यादा खूबसूरत और मनमोहक लगता है।

maredumilli
maredumilli

तो दोस्तों आज की इस पोस्ट में हमने आंध्र प्रदेश के पूर्वी गोदावरी जिले के कुछ पर्यटन स्थल के बारे में जाना जैसे कि गोदावरी आर्च ब्रिज,coringa wildlife sanctuary accommodation,resorts in maredumilli के बारे में जानकारी ली है। इसी तरह की जानकारी के लिए हमारे वेबसाइट को विजिट करते रहें और अपना प्यार देते रहें। हर किसी भी तरह की कोई भी पर्यटक स्थल छूट गई हो तो कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं ताकि आगे की पोस्ट में उसे बताने की कोशिश की जाए।

Goldfish Scientific Naam kya hai and Best amazing 12 facts

Related Posts

Click Here To Translate
error: Content is protected !!