Top No.1 Naagin Serial Interesting Story

Top No.1 Naagin Serial Interesting Story 

आज के इस पोस्‍ट मे naaginसिरियल से naagin 1,  naagin 2,  naagin 3, naagin 4, naagin 5 और kuch to hai naagin के बारे में बताएंगें यह naagin की कहानी बहुत ही ज्‍यादा इंटरेस्टिंग है। पिछले पोस्‍ट मे अकबर बिरबल की कहानी बताया था पिछले कहानी को पढने के लिए निचे दिये गये लिंक पर क्लिक कर कहानी को पढ़ सकतें हैं। 

naagin

नागिन के आज इस कहानी में रितिक और तन्वी की रिंग शिरोमणि होने वाली है। रितिक तन्वी से शादी नहीं करना चाहता है क्योंकि उसका कहना है कि मुझे आज तक किसी से प्यार ही नहीं हुआ मैं शादी करके तुम्हारा जिंदगी बर्बाद नहीं करना चाहता। रितिक को यह बात बता रहा होता है कि मैं तुमसे प्यार नहीं करता तभी तन्वी कहता है, कहती है मैं जानती हूं यह बात, और यह कि हम दोनों सिर्फ एक दोस्त हैं। तन्वी रितिक से कहती है। रितिक मुझे यह प्यार-व्यार इरिटेट लगती है, देखो शादी उसी से करनी चाहिए जिससे दोस्ती हो, और क्या पता साथ रहते रहते तुम्हें मुझसे प्यार हो जाए। रितिक तन्वी से कहता है मुझे नहीं लगता है कि, मैं कभी प्यार कर पाऊंगा। मेरे लिए प्यार कभी मायने रहा ही नहीं, मैं प्यार पर कभी विश्वास ही नहीं करता। हां लेकिन एक डील कर सकता हूं। कि मैं तुम्‍हे अपने साथ हमेशा तुम्हें खुश रखूंगा और तुम्हें किसी चीज की कमी नहीं होने दूंगा। तन्वी ऋतिक से कहती है मुझे डील मंजूर है, अब चले क्योंकि पूजा के लिए हम बहुत लेट हो गए हैं। रितिक तन्वी से कहता है तुम जाओ मैं काम करके आता हूं, अरे जल्दी चलो क्योंकि पूजा के बाद हमें पंचनेर के लिए निकलना है अगर वहां लेट हो गए ना तो तुम्हारे परिवार वाले हमसे गुस्सा हो जाएंगे।

naagin 1

इतना कह कर तन्वी और रितिक नीचे सभी परिवारों के साथ पूजा करने के लिए चले जाते हैं। पूजा होने के बाद सभी लोग पंचनेर के लिए निकल जाते हैं। रास्ते में अचानक, रितिक की कार से एक बढे़ व्यक्ति को धक्का लग जाता है। तभी ऋतिक के पूरे परिवार कार से बाहर आकर उस बूढ़े व्यक्ति को देखने लगते हैं रितिक कार से पानी निकालकर उस बूढ़े व्यक्ति को पिलाकर कहता है अरे बाबा आपको चोट लग गई है चलो आप को हॉस्पिटल लेकर चलते हैं। तभी रितिक की मां यामिनी कहती है हम कहां आ गए हैं यह जगह मुझे कुछ जानी पहचानी सी लगती है। रितिक कहता है उस बूढ़े व्यक्ति से चाचा चलो आपको बहुत ज्यादा चोट लग गई है मैं आपको हॉस्पिटल ले चलता हूं। बूढ़ा व्यक्ति रितिक से कहता है जाके राखो साइयां मार सके ना कोई, आज महाकाल की रात है मौत की मालिक की रात है जब तक उसकी इच्छा ना हो तब तक कोई किसी को नहीं मार सकता है। तभी बूढ़ा व्यक्ति रितिक को एक मंदिर दिखाता है और कहता है, उस मंदिर की बहुत मान्यता है। वह मंदिर शिवरात्रि को ही बहुत ज्यादा चमकता है । जैसे कि शिव के माथे पर चंद्रमा की तरह, यह सुनकर यामिनी मन ही मन कहने लगती है यह मंदिर तो पंचनेर का वही मंदिर है जो 20 साल पहले इतना कह कर वो शांत हो जाती है। वह बूढ़ा व्यक्ति रितिक से कहता है, जिनकी किस्मत में यह मंदिर ना हो उसे दिखाई ही नहीं देता है और जिनकी किस्मत में यह मंदिर लिखा है उसे दिखाई देता है और यहां उसे पुकारते रहता है।

voot naagin

रितिक मन ही मन कहता है यह मंदिर मैंने कभी देखा है। यह जगह मुझे जाना पहचाना क्यों लग रहा है। यामिनी को ऋतिक को लेकर बहुत डर लग जाता है और वह तन्वी से कहती है, तन्वी ऋतिक अपनी परवाह थोड़ी सी भी नहीं करता है, तुम उसके साथ रहना हमेशा, तन्वी यामिनी से कहती है ठीक है आंटी आप टेंशन मत लीजिए। इतना क्या कर सभी लोग गाड़ी में बैठ कर वहां से चल पड़ते हैं। रितिक और उनके पूरे परिवार एक हवेली में रहने के लिए जाते हैं रितिक की रिंग शिरोमणि होने वाली होती है। तन्वी रितिक से कहती है रितिक तुमने मुझे पहले कभी नहीं बताया कि तुम्हारी एक हवेली है मतलब तुम शादी के बाद मुझे रानियों की तरह रखोगे। यामिनी तन्वी को बुलाकर कहती है, मैं तुमसे कुछ कहना चाहती हूं। हवेली पुरानी है हो सकता है कि हमारी रीति रिवाज तुम्हें पुरानी लगे, लेकिन कल मेरे रितिक के साथ तुम्हारी रिंग शिरोमणि है, और मैंने आज तक तुम्हें कोई गिफ्ट नहीं दिया। इसलिए मैं तुम्हारे लिए यह कंगन लेकर आई हूं। रितिक हंसते हुए कहता है क्या मां आप भी सभी की तरह फिल्मी हो रही हो। क्या यह कंगन दे रही हो, अभी तक शादी हुई नहीं है। और नहीं हुई तो, तन्वी रितिक से कहती है तो मैं यह कंगन वापस ही नहीं करूंगी। रितिक तन्वी से कहता है क्या तुम शादी कंगन के लिए मुझसे कर रही हो, तन्वी हंसते हुए कहती है कंगन और यह हवेली के लिए मैं तुमसे शादी कर रहीं हूं।

naagin 1
naagin 1

naagin cast

इतना कहकर सभी लोग खाना खाकर अंतराक्षरी खेलने लगते हैं। अंतराक्षरी में नौकर के साथ शिवन्या नाम की लड़की वहां काम करती है, रितिक उसे बार-बार देख कर यह सोचता है कि ऐसा क्यों लगता है मुझे कि मैंने इससे पहले कहीं देखा। इससे मेरा रिश्ता जुड़ा है। रितिक शिवन्या से, मिलने के लिए उसके पीछे पीछे जाता है। तभी शिवन्या का कुछ सेहत खराब रहने के कारण ऋतिक उससे कहता है, मेरे पास कुछ दवाइयां है भिजवा दूंगा तुम खा लेना कल तक ठीक हो जाओगी। इतना कहते ही शिवन्या वहां से चली जाती है। उसके बाद रितिक अपने परिवार के साथ अंतराक्षरी खेलने चला जाता है। ऋतिक के फोन में नेटवर्क नहीं आने के कारण ऋतिक फिर वहां से बाहर चला जाता है, वह बाहर जाते जाते एक जंगल की तरफ चला जाता है तभी उसके मोबाइल में नेटवर्क आ जाती है। और वह कहता है हां अब मेरे फोन में नेटवर्क आ गया है अब मैं काम कर सकता हूं। रितिक को कुछ घंटियों की आवाज सुनाई देती है और उसकी नजर एक मंदिर पर पड़ती है तभी वह मन मन कहता है कि यह तो वही मंदिर है जो मेरे सपनों में आती है।

naagin vood

रितिक जंगल की तरफ जाते हैं और एक खाई में गिर जाता है तभी यामिनी ऋतिक को खोजने लगती है पूरे हवेली में खोज कर वह अपने पति के पास जाकर कहती है रितिक को आपने कहीं देखा है तभी रितिक के पापा कहते हैं रितिक वही कर रहा होगा जो उसका मन है वह अपने काम के लिए अपने मोबाइल में नेटवर्क खोजने बाहर गया है। तभी यामिनी तन्वी के पास आती है और कहती है तुमने कहीं ऋतिक को देखा है। वह कहती है जी आंटी उधर जाते हुए देखा है।

अब यहां से naagin 2 की कहानी शुरू होती है।

इस कहानी में रितिक और शिवन्या की शादी हो जाती है रितिक की शादी के दिन ही तन्वी की जगह शिवन्या दुल्हन होती है। शिवन्या रितिक के घर में अपने धीरे-धीरे जगह बना ली, शिवन्या मन में ठान ली थी कि मैं अपने मकसद से पीछे नहीं हटूंगा। मैं अपना बदला जरूर लूंगी शिवन्या इच्छाधारी नागिन होती है, घर में आते हैं उसने अपने रास्ते बनाने शुरू कर दिए। शेषा की मदद से एक-एक करके अपने मां-बाप की कातिलों को मारना शुरू कर देती है। शेषा और शिवन्या ने चार कातिलों को मार दिया था। अब उसे पांचवे कातिल की तलाश थी, जिसका चेहरा वह अपनी मां की आंखों में देख नहीं पाई थी। आखिरकार वह पांचवा कातिल भी सामने आया। शेषा जो अब तक शिवन्या के साथ थी वह अब उसी की दुश्मन बन गई। वह शिवन्या से कहती है मुझे ऋतिक चाहिए तेरा पति तेरा प्यार मुझे चाहिए, शेषा को ऋतिक चाहिए था उसे पाने के लिए उसने यामिनी से हाथ मिला लिया। एक दिन यामिनी और शेषा को पता चला महेश मती के बारे में, महेश मोतियों के पास सिर्फ 24 घंटे थे नागमणि हासिल करने के लिए। पर रितिक और शिवन्या ने मिलकर उनकी हर एक चाल नाकाम कर दी।

naagin season 2

दोनों ने मिलकर नागमनी को बचा लिया। 25 सालों के लिए फिर महेश मोतियों को उनके ही दीवाल में उन दोनों ने मिलकर कैद कर दिया। रितिक और शिवन्या को लगता है वह जीत गए, उनके सारे दुश्मन खत्म हो गए। अब वह खुशी-खुशी रह सकते हैं अपने अतीत से दूर, शिवन्या अब मां बनने वाली है वह दोनों ने अपनी जिंदगी शुरू की, 3 महीने बाद शिवन्या और रितिक को लगता था उनकी खुशी शुरू हुई। पर कुछ ही दिन बाद उनके पीछे कुछ लोग पर गए। अचानक कहीं से फिर उनके दुश्मन आ गए, वह दोनों जंगलों में दौड़ रहे होते हैं तभी शिवन्या एक खाई में गिर जाती है और उस वह गर्भवती होने के कारण उसके पैर में दर्द हो जाती है। शिवन्या को देख रही रितिक भी उस खाही में चले जाता है और शिवन्या से कहता है क्या वह शिवन्या, शिवन्या रितिक से कहती है मेरे पेट में दर्द हो रहा है। रितिक कुछ करो, रितिक मन ही मन सोचता है 3 महीने से सब कुछ ठीक था फिर हमारे पीछे यह लोग कौन पर गए। इतने में ही वह दोनों जंगल से भागकर रितिक शिवन्या को हॉस्पिटल ले जाता है और कहता है शिवन्या तुम अपनी आंखें खोली रखना अपने बच्चों के लिए, मैं तुम्हें कुछ नहीं होने दूंगा। तभी डॉक्टर रितिक से कहता है लगता है तुम्हारी बीवी बच्चे को जन्म देने वाली है। तभी शिवन्या एक बेटी को जन्म देती है और यहॉं एक हैरानी हो जाता है कि 3 महीने में हमारी बेटी कैसे हो सकती है डॉक्टर लोग सभी यही कहते हैं कि यह साइंस के लिए बहुत ही चमत्कार की बात है 3 महीने में इतना हेल्थी बच्चा होना नामुमकिन है, रितिक शिवन्या से मिलने आता है दोनों आश्चर्यचकित होते हैं अपनी बेटी को देखकर रितिक शिवन्या से कहता है 3 महीने में अपना बच्चा यह कैसे हो सकता है शिवन्या, शिवन्या कहती है यही तो मैं भी सोच रही हूं लेकिन मुझे मां ने बताया था कि मनुष्य की और नागिन की गर्व काल में अंतर होता है।

naagin 2
naagin 2

naagin 2 vood

शिवन्या रितिक से कहती है रितिक कहीं हमारी बच्ची naagin तो नहीं, रितिक कहता है नहीं शिवन्या ऐसा नहीं हो सकता है। शिवन्या मैं इंसान हूं और अब तुम भी तो एक इंसान हो तुम नाग युग से निकल चुकी हो। इतना कहकर शिवन्या और रितिक अपनी बेटी को देखकर मुस्कुरा कर कहते हैं और हमारी बेटी naagin कैसे हो सकती है। शिवन्या रोते हुए कहती है हमारी बेटी naagin ना हो। शिवन्या और रितिक ने उस बेटी का नाम शिवांगी रखा था। 25 साल पहले वह कहानी जहां खत्म हुई थी, फिर वहीं से आज शुरू हुई, 24 साल बाद शिवन्या की बेटी शिवांगी बड़ी हो जाती है, वह बिल्कुल शिवन्या की तरह ही दिखती है। शिवन्या अपनी बेटी को naagin और पिछले कुछ कहानी अपनी बेटियों को नहीं बताई थी। और वह नहीं चाहती थी कि किसी से भी उसे पता चले कि, कि कुछ साल पहले क्या हुआ था। कुछ दिन बाद शिवन्या को नाग लोक के कुछ इच्छाधारी नाग और naagin मिल जाते हैं और वह शिवन्या को कहते हैं कि तुम चलो हमारे साथ नागलोक वहां सब तुम्हें ढूंढते रहते हैं कि तुम कहां चली गई। शिवन्या कहती है कि मैं अब कभी नहीं उस लोक जाऊंगी मैं अब इच्छाधारी naagin नहीं रही और मुझे जाना भी नहीं शिवांगी की 25वीं साल को होने वाली है, वह लोग हमें ढूंढते ढूंढते ही हां जरूर आएंगे। तुम लोगों की साथ रही तो जरूर पकरी जाऊंगी।वह लोग सबसे पहले हमें ढूंढते हुए नागलोक ही आएंगे तुम लोग यहां से चले जाओ मुझे नहीं जाना नाग लोक और यहां कभी वापस नहीं आना।

अब हम naagin 3 के बारे में बताने वाले हैं।

शिवांगी की शादी हो जाती है लेकिन रॉकी भी इच्छाधारी नाग होता है शिवांगी अपने मां बदला पूरा करते-करते उसके पति रॉकी ने शिव मंदिर में और उसके बाबा ने उसे मार दिया। शिवांगी मरते मरते हैं यह सोच रही थी कि मेरे पति और मेरे पिता ने मुझे क्यों मारा भगवान ना करे किसी नागिन को ऐसा दिन देखना पड़े यह कह कर उसकी मृत्यु हो जाती है। तभी एक दूसरी naagin की कहानी शुरू एक शिव मंदिर में होती है। 100 साल बाद एक नाग naagin इच्छाधारी नाग naagin बनते हैं। कुछ लोग इच्छाधारी naagin को देखकर उसके साथ जोर जबरदस्ती करने लगते हैं। लेकिन नाग उसे कहता है हम दोनों को छोड़ दो हम दोनों तुम्हें कुछ नहीं कहेंगे क्योंकि हम दोनों शादी करने जा रहे हैं। लेकिन वहॉं कुछ लड़के यह बात नहीं समझ पाते हैं, naagin के साथ जबरदस्ती करते रहते हैं। तभी नाग उन लोगों का सवक सिखाने के लिए अपना रूप आता है और दो लड़कों को वह अपने नाग के रूप में डराने लगता है। वह लड़के नादान होते हैं, वह लड़के नादान होते हैं अचानक से एक लड़का नाग पर गोली चला देता है, और नाग खाई में गिर के मर जाता है तभी naagin, जोरो से रोने लगती है और कहती है तुम सब में से कोई नहीं बचोगे, naagin नाग के आंखों में सभी की तस्वीर देख लेती है।
और नागिन मन ही मन कहती है अब तक लोगों ने नाग naagin के प्यार के किस्से सुने होंगे लेकिन अब उसके बदले के कहानी सुनेंगे।
naagin 3 instagram
और उस कहानी में माफी नहीं होगी। होगी तो सिर्फ मौत, उन सब की मौत होगी जिन्होंने मेरी जिंदगी को मौत दी है। मेरे प्यार को मुझसे अलग किया, आज इस जगह शिव भैरव और पाताल भैरवी, तीनों के मंदिर हैं और आज यह naagin तीनों की कसम खाकर कहती है, मैं आपने नाग के कातिलों को जिंदा नहीं छोडूंगी। लौट के आऊंगी मैं अपना बदला लेने, महाकाल का वरदान है मुझे और अब उसी महाकाल की कसम मैं उन लड़कों का काल बनूंगी। उन सब की मौत बनूंगी, 6 महीने बाद वह नागिन रूप बदलकर एक बिजनेस वाली बन कर उसी लड़के के शादी में जाती है। और वही से उसका इंतकाम शुरू होता है। वह नागिन उस घर में एक इंसान की तरह रहती है। वह मन ही मन सोच लेती है कि एक एक करके मुझे सब से बदला लेना है। जिस लड़के ने उसके नाग पर गोली चलाई थी, वह लड़का उस नागिन के पीछे पागल रहता है। क्योंकि naagin बहुत खूबसूरत रहती है।
naagin 3 face book
उस naagin का नाम विशखा रहता है। वह सबसे बड़ी इंडस्ट्री की मालिक रहती है। वह एक-एक करके सब को मार देती है। लेकिन अभी भी एक कातिल बचा रहता है। इसे मारने के लिए वह इच्छाधारी naagin और उसके एक साथी बेला नाम की लड़की रहती है। वह लड़की उसी लड़के से शादी होने वाली होती है जिसने वह इच्छाधारी नागिन के प्यार को मारा था, वह बेला इच्छाधारी naagin होती है वह भी अपना कोई बदला लेने के लिए उस घर में आती है। सभी का तेलुगु मानकर फिर भी उन के नए खातिर जमा हो गए थे। बेला की जिससे शादी हुई थी पर लड़का भी एक मां का कातिल नहीं था, इच्छाधारी नागिन उसे बार-बार कहती थी कि तुम उसे जाकर मारो लेकिन पहला कोई हमें पता नहीं थी कि बेला खुल माहिर से प्यार हो गया था। इच्छाधारी naagin बेला को कहती है कि तुम माहिर को मार दो लेकिन बोला यह बात से इनकार करते रहती है बात टाल देती है। लेकिन इच्छाधारी naagin उसे बार-बार यह कहकर परेशान कर देती है बेला इच्छाधारी नागिन से कहती है ठीक है अगर तुम यह चाहती हो तुम्हें मुझ पर शक है कि मैं माहिर से प्यार करने लगी हूं तो मैं उसे मारने के लिए तैयार हूं। बेला जब माहिर को मारने जाती है, तो माहिर उसे कुछ कहने लगता है तभी मेरा उनकी आंखों में देखकर खो जाती है बेला उसे नहीं मार पाती है कुछ बातें होने के बाद माहिर वहां से चला जाता है और कहता है तू अभी आराम कर लो, बेला मन ही मन सोचने लगती है कि मैं बेला को क्यों नहीं मार पा रही हूं इसके आंखों में मुझे सच लगता है।

naagin 3 cast name and images
naagin 3 cast name and images

naagin 3 gossip

एक पुरानी हवेली रहती है जहां कुछ लोग जाते हैं और वह माहिर भी जाता है दिल अभी जाना चाहती है क्योंकि उसे माहिर को मारना होता है। वह सोच करिया जाती है कि आज मैं उसे मार दूंगी तभी मेरा बदला पूरा होगा और मेरी मां भी मुझसे कही थी जब तक तू अपनी कातिलों को नहीं मार पाओगी। तब तक तुम्हारा प्यार अधूरा है। माहिर के घरवाले और बेला हवेली मैं जब पहुंचते हैं बेला सोचती है कि अभी ही अच्छा मौका है माहिर को मारने का वह नागिन रूप में आकर माहिर को मारने का बहुत प्रयास करती है लेकिन वह 10 नहीं पाती है क्योंकि माहिर पीछे मुड़कर देखता है तब तक बेला वहां से भाग जाती है क्योंकि माहिर को नहीं पता रहता है कि बेला एक इच्छाधारी नागिन है। सभी लोग जंगल से घर आते हैं और बेला फिर माहिर को मारने की कोशिश करती है लेकिन उसकी कोशिश हर बार नाकाम हो जाती है, ऐसे करते-करते बेला बहुत बार कोशिश कर चुकी रहती है लेकिन वह माहिर को नहीं पाती है। वह इच्छाधारी नागिन बेला से कहती है तुम अगर उससे नहीं मारोगे तो मैं उसे मार दूंगी नहीं तो तुम आज उसे मार दो, बेला कहती है मैं ऐसा नहीं कर सकती क्योंकि ऐसा मुझे लगता है कि मुझे माहिर से प्यार हो गया है। इच्छाधारी नागिन बेला को समझाने में लग जाती है कि हम नाग लोक के वासी है हम इंसानों से प्यार नहीं कर सकते हैं बेला की आवाज समझ नहीं आती है। वह माहिर से प्यार करने लगती है। कुछ दिनों बाद माहिर को पता चल जाता है कि बेला है कि इच्छाधारी नागिन है, फिर वहां बेला से कहता है तुम एक इच्छाधारी नागिन हो और तुमने मुझे कभी बताया ही नहीं, बेला यह बात किसी को नहीं बताना चाहती थी लेकिन उसने माहिर को अपनी सारी सच्चाई बताई और उसने उसके घर वालों को क्यों मारा उसने भी यह सब बात बताएं माहिर सुन के आश्चर्यचकित हो जाता है कि बेला ने ही मेरे घर वालों को मारा है। माहिर बेला से नफरत करने लगता है, लेकिन बेला को माहिर से प्यार हो जाता है बेला अपने प्यार का इजहार माया से कर बैठती है। माहिर बेला से प्यार करने लगता है दोनों एक हो जाते हैं, बेला की आगे की जितने भी इंतकाम बचे हुए होते हैं वह माहिर और बेला मिलकर अपने इंतकाम पूरा करने में लग जाते हैं, इच्छाधारी नागिन जो थी। जिसके प्यार को उसके घर वालों ने मारा था वह भी जीवित हो गया था। वह दोनों भी साथ हो गए थे लेकिन उन दोनों की शादी होनी बाकी थी।

naagin 3
naagin 3

vood naagin 3

माहिर बेला और वह इच्छाधारी नाग और नागिन चारों एक साथ रहने लगे थे। लेकिन उन लोगों का इंतकाम पूरा नहीं हुआ था। वह अपने दुश्मनों को मारने में लगे हुए थे वह आपने दुश्मनों को मारते जा रहे थे उनकी दुश्मनी बढ़ते जा रही थी। माहिर बेला इच्छाधारी नाग नागिन अपने इंतकाम को अंजाम देते हुए। चारों ने शादी कर ली, बेला माहिर के साथ बहुत खुश रहने लगी थी क्योंकि बेला माहिर से प्यार कर रही थी। माहिर बेला से बहुत ज्यादा प्यार करने लगा था, वह दोनों नाग नागिन भी मिल चुके थे, उस ने भी अपनी इच्छाधारी नागिन से शादी करके खुश रहने लगा था। लेकिन किसी को यह पता नहीं था कि माहिर के घरवाले उनके भाई और उनके मां दोनों उनके दुश्मन है। माहिर की मां यानी कि सुमित्रा नागमणि पाने के लिए कुछ भी कर सकती थी उसने बेला की मां को भी मार दिया क्योंकि बेला ने नागमणि कहां है इसके बारे में नहीं बताया था। बेला का रो रो कर बुरा हाल हो रहा था उधर माहिर भी बेहोश पड़ा था क्योंकि माहिर को भी चोट आई थी।
माहिर को सर मैं चोट लगने के कारण उसकी यादाश्त चली जाती है वह एक छोटा बच्चा सा हो जाता है, बेला माहिर को देख पूरी तरह टूट जाती है वह सोचने लगती है अब मैं क्या करूं वह बहुत रोने लगती है तभी वहां नाग नागिन आकर कहते हैं बेला तुम परेशान मत हो माहिर ठीक हो जाएगा।
naagin 3 vood
माहिर की मां माहिर को अपने घर ले जाती है। क्योंकि उसे कुछ याद नहीं रहता वह बचपन में चला जाता है उसे घर वालों की चाल की खबर नहीं होती है। उसकी मां माहिर को बहुत तकलीफ देती है, लेकिन बेला माहिर को छोड़कर कहीं नहीं जाती है वह माहिर के साथ ही उस घर में रहती है। कुछ दिनों बाद माहिर मां ने माहिर के लिए एक लड़की ढूंढो उस लड़की के परिवार वाले बहुत पैसे वाले थे। और माहिर की मां माहिर से उस घरवालों की बेटी के साथ शादी कराना चाहते थे। माहेर तैयार होकर नीचे जाता है वह लड़की के बगल में बैठ कर उसे सिर्फ देखता है। लेकिन वह कुछ बोलता नहीं क्योंकि माहिर की मां और माहिर की छोटे भाई युवराज ने माहिर को डरा के रखा होता है, वह उससे कह देती है तुम्हें नीचे जाकर लड़की वालों के सामने कुछ नहीं बोलना है। माहिर नीचे जाकर वैसे ही करता है जैसे उसकी मां और उसके छोटे भाई ने कहा हुआ होता है। माहिर को कुछ नहीं बोलने से लड़की वाले के परिवार के मन में खटक जाता है का लड़का अच्छा नहीं है। वह शादी के लिए मना कर देती है तभी माहिर के परिवार वाले जो इच्छाधारी नाग नागिन होते हैं। लड़की के परिवार वालों को चोट पहुंचाने की कोशिश करने लगते हैं, तभी माहिर के घरवाले उस लड़की के घर वालों को मार देते हैं लड़की के माता-पिता मरने के बाद लड़की बहुत रोने लगती है और कहती है। कौन हो आप लोग और क्या चाहते हो मुझे माहिर से शादी नहीं करनी है।

naagin 3 episode

माहिर की शादी उस लड़की से हो जाती है माहिर की मां ने माहिर को कहती है कि तुम बेला से बात नहीं करोगे या उसके हाथ का कुछ नहीं खाओगे वह बहुत डेंजर लड़की है। जब बेला माहिर के पास जाती है तो माहिर बेला को सारी बात कह देता है कि तुम अच्छी नहीं हो, दूसरे दिन बेला ने खाना बनाकर सब को खिलाया। तभी माहिर की मां ने बेला पर बहुत गुस्सा किया क्योंकि उसके घर में सब कुछ बदल चुका हुआ रहता है। माहिर की बहन एक नौकरों की तरह घर की सारे काम और खाना बनाकर सबको खिलाती थी सबके खाने के बाद वह खाती थी। बाहर के पिता जो सबसे बड़े इंडस्ट्री के मालिक थे वह घर के कपड़े धोते थे क्योंकि माहिर की मां ने सब कुछ पलट दिया था। कुछ दिनों बाद बाहर की यादाश्‍त्  वापस आ जाती है। माहिर बेला को उसकी नाम से पुकारने लगता है। बेला रोते हुए कहती है आपको सब कुछ याद आ गया महिर जी, माहिर कहता है ऐसा क्यों लगता है मुझे कि मैं तुमसे बहुत दिनों बाद मिल रहा हूं बेला रोते हुए कहती है ऐसा ही है माहिर जी हम बहुत दिनों बाद ही मिल रहे दोनों गले पकड़ कर रोने लगते हैं।

naagin 3 cast
naagin 3 cast

naagin season 3

जैसे बेला माहिर को उसकी मां के बारे में बताने के लिए बोलने लगती है तभी उसकी मां और उनके भाई और उनके मौसा मौसी वहां आकर रोक देते हैं। बेला और माहिर को जबरदस्ती अलग कर कर माहिर का छोटा भाई युवराज माहिर को नीचे ले जाता है, तभी उसकी मां नागिन बनकर माहिर को डस लेती है। तभी माहिर का शरीर नीला पर यह लगता है बेला का रो-रो कर बहुत बुरा हाल हो जाता है। वह जोरों से चिल्ला कर कहती है क्या चाहते हो तुम लोग मेरे माहिर को छोड़ दो उसे ठीक कर दो।

naagin 4 की कहानी

इस कहानी में वृंदा नाम की एक इच्छाधारी नागिन होती है उसकी शादी एक साधारण मनुष्य जिसका नाम देव होता है। देव के सभी घरवालों ने वृंदा के मां बाप और उनके भाई बहन को जमीन की लालच में आकर मार दिया था। लेकिन वृंदा बच गई थी। उसे सबके चेहरे और सब की बातें याद थी, उसने पहले देव से शादी की उसके बाद वह उसके घर में आकर सभी का दिल जीत के सभी घरवालों को मारना चाहती थी। वृंदा बहुत कोशिश करने के बावजूद वह देवकी घरवालों को नहीं मार पाती है। क्योंकि देव एक साधारण मनुष्य नहीं रहता है, उसके सर में नागमणि छिपी रही होती है। देव ने वृंदा की मां को मारा था, होली के दिन वृंदा ने देव के माथे पर उस नागमणि को देखा था जो छिपी हुई थी। वृंदा मन ही मन सोचती है मैं उसे देख कर क्यों कमजोर पड़ जाती हूं। उसने मेरी मां को मारा है, उसे देख कर मैं कमजोर पड़ जाती हूं उसे देख कर मैं सब कुछ भूल जाती हूं मैं अपना इंतकाम भूल जाती हूं। कैसे भूल जाती हूं कि मेरी बहन का कातिल है वो मैं उसे इस बार मार के ही रहूंगी।इधर देव ने दूसरी शादी कर ली होती है, देव ने जिस लड़की से शादी किया हुआ होता है उसका नाम तारा रहता है।

kuchh to hai naagin
kuchh to hai naagin

naagin 4 vood
देव की मां जो कि वृंदा को देखना नहीं चाहती है। वृंदा उसकी मां से बदला लेने के लिए बहुत कोशिश करती है लेकिन उससे हर कोशिश नाकाम नजर आती है। वृंदा अपने आप को कमजोर महसूस करने लगती है उसे ऐसा लगता है कि वह सब चीज टूट रहा है, पर कितनी भी कोशिश करती है देव के घरवालों से बदला लेने की लेकिन हर चांद में वह नाकाम नजर आती है। वह हमेशा यह सोचती रहती है कि मेरी मां और मेरे परिवार के साथ जो आज तक तुमने किया है भूली नहीं हो और भूलूंगी भी नहीं जब तक मैं तुम सब से अपना इंतकाम बदला ना कर लूं देव के परिवार में से अभी तक नींद आने दो आदमी को मार चुका था। उसका अगला निशाना देव था वह कैसे भी करके देव को मारना चाहती थी। लेकिन वृंदा की कुछ दुश्मनों के कारण वह देव को नहीं मार सकती थी, क्योंकि देव के माथे पर नागमणि था।

अब यहां से शुरू होता है naagin 5 की कहानी

इस कहानी में सभी नागिनी एक साथ मिलती है वृंदा शेशा और विशाखा शेशा जब विशाखा से गले मिलने जाती है तो विशाखा को वह चाकू से वार कर कर उसे मारने की कोशिश करती है। और कहती है तुम्हें क्या लगता है मैं बुराई की जय जय कार करूंगी हां मैं बुराई थी लेकिन मैंने नागलोक जाकर अपने में पश्चाताप किया है अब मैं अच्छाई की तरफ हूं। अब मैं यहां अच्छाई को बचाने और बुराई को मिटाने आई हूं। विशाखा रूप पी ले लेती है। जिसे देख शेशा और वृंदा हैरान हो जाती है। दोनों रूप लेने के बाद विशाखा शेषा को मारना चाहती है लेकिन शेशा अपने नागिन रूप में आकर विशाखा को बस में करना चाहती है। लेकिन विशाखा अपनी शक्तियों के उपयोग से शेषा को चोट पहुंचा देती है। देव वहां बेहोश पड़ा रहता है विशाखा और तारा दोनों मिलकर देव कि सिर से नागमणि निकालने की कोशिश करती है। विशाखा मन ही मन कहती है शेष नागिन को तो बुला लिया तुमने लेकिन नागरानी कभी नहीं आएगी। शेशा मन ही मन नाग रानी को पुकारने लगती है। शेषा के पुकारने से नागरानी वहां चली आती है। वृंदा देव के पास जाकर उसका ख्याल रखने में लग जाती है। नागरानी वहां आकर विशाखा को बहुत बुरा भला कहने लगती है वह कहती है मैंने तुम पर भरोसा किया था विशाखा लेकिन तुमने मेरा भरोसा तोड़ दिया।
naagin 5 upcoming twist
तुम नाग नागिन के नाम पर कलंक हो। इतना कहकर नागरानी शेषा को उठाकर उनके जख्मों को हाथों से भर देती है। शेषनाग रानी को सारी बात बताती है नागरानी ऐसा से कहती है मैं सब कुछ जानती हूं तुमने बहुत कुछ किया लेकिन तुमने हार नहीं माना, मुझे तुम पर गर्व है शेषा पूरे नागलोक को गर्व है तुम पर, उधर वृंदा देव को होश में लाने की बहुत कोशिश करती है तभी नागरानी की नजर देव और वृंदा पड़ती है। नागरानी देव को अपनी शक्तियों से ठीक करने जाती है तभी पीछे से विशाखा नागरानी पर वार करने की कोशिश करती है। शेशा उस कोशिश को नाकाम कर दिया। नागरानी विशाखा को जान से मार देती है। और तारा को भी शेशा अपनी शक्तियों से मार देती है। उधर देव की भी मृत्यु हो जाती है। वृंदा का रो रो कर बुरा हाल हो रहा होता है तभी नागरानी वृंदा से कहती है जिस मंदिर में हम अभी है वृंदा उस मंदिर का राज देव को जीवित कर सकता है। वृंदा रोते हुए चिल्लाकर कहती है कौन बताएगा मुझे राज कौन सा राज, नागरानी कहती है, शेषनाग से ऊपर नाग रानी होती है नागरानी के ऊपर आदी नागिन होती है वृंदा कहती है नागरानी से पर उन्हें बुलाएगा कौन नागरानी वृंदा से कहती है उसे महा देवों के देव महादेव ही बुला सकते हैं। सिर्फ शिव शंकर ही उसे बुला सकते हैं। कुछ महीने बाद आधी नागिन पृथ्वी पर आती है।

naageen 5
naageen 5

naagin 5 trp
सब कुछ बदल जाता है। आदी नागिन की भी एक दुश्मन होती है। जिसके बारे में आदी नागिन को पता नहीं रहता है। वह मारने के लिए आदी नागिन को जाती है लेकिन वहां कुछ लोग आने के कारण वह अपना रूप बदलकर रोने लगती है कि हम मुझे मारने की कोशिश कर रही है। आदि नागिन की दुश्मन रोते हुए कहती है सभी लोगों को की यह मुझे मारने की कोशिश करती है हर बार मुझे डराती है। आदि नागिन यह नहीं जानती थी कि वह दुश्मन आखिर कौन सा जानवर है लेकिन उसे बाद में पता चलता है कि वह शुतुरमुर्ग है वह यह सोच कर हैरान जाती है कि वह मेरे घर में रहकर मुझे को नहीं पता कि वह मेरी सबसे बड़ी घातक दुश्मन है।

निष्‍कर्ष :-

आज के पोस्‍ट में naagin season 1, naagin 4 cast, naagin 5 cast, naagin india forums, naagin 5 instagram के बारे में बताया अब अगले पास्‍ट मेंं naagin 5 upcoming story और naagin written update मे बारे में लिखेंगे और इंटरेस्टिंग कहानी और फैक्‍ट्स जानने के लिए https://fasttricks.in/ को   पढते रहिए तो दोस्‍तों हमारा यह पोस्‍ट आपको कैसा लगा कमेंट बाॅक्‍स में कमेंट कर अवश्‍य बताएं ।

Top No.1 Akbar Birbal Interesting and funny Story

 

Related Posts

Click Here To Translate
error: Content is protected !!