yeh rishta kya kehlata hai

Yeh Rishta Kya Kehlata Hai Episode 50 Season-1st

Yeh Rishta Kya Kehlata Hai Episode 50 Season-1st

यह कहानी एक सिरियल ये रिश्‍ता क्‍या कहलाता है के आधार पा बनायी गयी है जो पढने मे बहुत ज्‍यादा आकर्षित है। यह आपको yeh rishta kya kehlata hai instagram, yeh rishta kya kehlata hai fb, yeh rishta kya kehlata hai dance songs पर आपको शार्ट विडियो के रूप में और latest story of yeh rishta kya kehlata hai, upcoming story of yeh rishta kya kehlata hai  को आप watch yeh rishta kya kehlata hai on hotstar देख सकतें हैं।

आज हम yeh rishta kya kehlata hai episode 50 को देखेंगें।

पिछले पोस्‍ट में हमनें देखा किे किस तरह से अक्षरा और वर्षा को किस तरह कॉलेज जाने के लिए उसके पिता ने आदेश दिया और किस तरह से अक्षरा से मिलने का प्‍लान नैतिक ने बनाया और इसमे कैसे रश्‍मी ने उसका साथ दिया।

आज के इस पोस्‍ट मे हम yeh rishta kya kehlata hai serial, yeh rishta kya kehlata hai hotstar, yeh rishta kya kehlata hai on hotstar के बारे मे बात करेगें।

yeh rishta kya kehlata hai episode 50

yeh rishta kya kehlata hai serial नैतिक और अक्षरा की है जो उदयपुर मे अपने पुरे परिवार के साथ रहते हैं। यह कहानी उनके शादी से लेकर माता – पिता बनने तक का है।

तो चलिए yeh rishta kya kehlata hai aaj ka episode के तरफ बढतें हैं।

जब वर्षा अपने दोस्त के साथ जमाल चाचा की दुकान पर पानी पूरी खा रही थी और मस्ती करते हुए बातें कर रही थी तभी जमाल चाचा आकर वर्षा को शादी मुबारकवाद दिए और सभी को अक्षरा की शादी के बारे में भी बताएं उसके बाद जमाल चाचा चले गए।

yeh rishta kya kehlata hai
yeh rishta kya kehlata hai

yeh rishta kya kehlata hai akshara

तब अक्षरा की एक दोस्त ने उससे पूछा वह क्या करता है कैसा दिखता है क्या उसका बिजनेस है फिर दूसरे दोस्त ने पूछा कितनी बार मिली तभी वर्षा बोली सिर्फ एक बार वह भी पूरे परिवार के सामने तब उसकी दोस्त बोल इसमें मिलना तो होता रहेगा इतने में अक्षरा मना कर वहां से चलने लगी। तभी वहां रेशमी आ गई और बोली सोच लो अक्षरा भाभी क्या आप मना कर पाओगे आपसे नैतिक मिलना चाहता है वह बेसब्री से इंतजार कर रहा है फिर वर्षा और ऐसे में अक्षरा को समझाती रही।

इधर नैतिक अपने दोस्त के साथ अक्षरा का इंतजार कर रहा था। तभी एक दोस्त ऋषि बोला मुझे नहीं लगता कि वह आएगी फिर उसने कहा देख लिया शादी का क्या है। घर वालों ने देखा परिवार अच्छा लड़की ने देखा लड़का अच्छा है इतना भी बुरा नहीं है पूछते नहीं पैसा अमीर खानदान है नौकर चाकर है कट जाएगी जिंदगी और कर दीहां शादी के लिए शादी तो शादी है ऐसे ही हो जाती है अगर लड़की को तेरी फिक्र है तब तो तेरी लाइफ सेट है। नहीं तो….

तब नैतिक का दूसरा दोस्त बोला तुम बकवास बंद करेगा वैसे भी तेरा यह भाषण सुनने के मूड में नहीं है।

तब फिर ऋषि बोला नाराज क्यों हो रहे हो यार मैं तो बस यह कह रहा हूं अगर आज हमारी होने वाली भाभी यहां आती तब तो नैतिक की लाइफ सेट है और अगर नहीं तो बेचारा नैतिक….

 

इधर रेशमी अक्षरा को नैतिक से मिलने के बारे में बोलकर अपनी क्लास चली गई।

फिर अक्षरा ने वर्षा को मना कर अपने क्लास की तरफ चल पड़ी।

इधर नैतिक अक्षरा का इंतजार कर रहा था तभी उसका दोस्त ऋषि फिर से बोला हमें लगता है हमें टाइम वेस्ट कर रहे हैं और वह नहीं आई जिसके आरजू में हमारे नैतिक मियां मजनू बने बैठे हैं हम तो कहते हैं जिस लड़की को ज़जबातों की कद्र नहीं वह बेकार है चाहे वह जन्नत की हूर क्यों ना हो।

फिर उसके दोस्त ने दोस्त मोहित ने बोला तुम उसे चढ़ाना बंद करेगा तेरी जो यह मत करिया है ना इससे हमें रिजेक्ट कर रही है जहां तक यह सवाल वह आएगी या नहीं तो वह जरूर आएगी।

yeh rishta kya kehlata hai naitik

तब नैतिक बोला ऋषि ठीक कर रहा है मोहित वह नहीं आएगी lets go…

तभी वर्षा अक्षरा को लेकर वहां आ गई और डरते डरते अक्षरा ने वर्षा को बोली वर्षा मुझे बहुत डर लग रहा है कहीं भोला भैया ने हमें देख लिया तो तब वर्षा बोली हमने गाड़ी बहुत दूर पर करवाई थी भोला भैया हमें भोला भैया  नहीं देख पाएगा तु डर मत just relex

yeh rishta kya kehlata hai
yeh rishta kya kehlata hai

दोनों पास जाकर एक दूसरे को देखने लगे तभी वर्षा हंसते हुए बोली हाय नैतिक जी तब एक दूसरे का ध्यान एक दूसरे पर से हटा।

तब मोहित बोला परिचय नहीं कर पाओगे नैतिक तब नैतिक ने एक दूसरे को सबसे परिचित करवाया।

तब मोहित फिर से बोल पड़ा कि मैं सोच रहा था कि वह कैसी होगी लेकिन जब मिला तो पता चला तूने क्यों कर दी झट से शादी के लिए हाँ

तब ऋषि बोला सच बताऊं भाभी जी मेरी तो बड़ी तमन्ना थी आपसे मिलने की पूछिए क्यों पुछिए पुछिए।

अरे इसलिए हमें भी तो देखना था की आखिर वह कौन सी लड़की है जिन्होंने हमारे महान दोस्त से शादी के लिए मान गए और वैसे भी अपने होने वाली भाभी से भी तो मिलना था हमें।

तब मोहित फिर से बोला लेकिन भाभी जी आप तो कुछ बोलते ही नहीं कोई से हमारे ग्रुप में चुप रहना बिल्कुल भी Allowed नहीं है सिर्फ एक को छोड़कर और वह है नैतिक वैसे एक सच बताऊं अच्छा है कि या चुप रहता है वरना जब यह बोलना शुरू करता है तो बाकी सब चुप हो जाते हैं स्कूल में सबसे अच्छा डिपेटर है वैसे अच्छा नैतिक भाभी कितनी शर्मीली है वरना तुम दोनों की तो रोज बहस हो जाती।

फिर ऋषि वर्षा को बोला वैसे वर्षा भाभी आप भी इतनी ही खामोश रहती हैं कुछ नहीं बोलती।

तब वर्षा बोली पूछिए ना जो पूछना है।

सब Rishi ने बोला फिलहाल तो यह पूछना है कि आप कुछ खाएंगे क्या इतनी देर से वेट कर रहे हैं तब से चने चलाते-चलाते पक गए हैं कोल्ड ड्रिंक्स एंड चिप्स  तब वर्षा बोले वैसे आईडिया बुरा नहीं है फिर रिसीव थैंक गॉड कोई तो मुझे अपने तरह का मिला आप 2 मिनट रुको मैं आपके जलपान का प्रबंध करके आता हूं बोल कर चला गया।

तब मोहित नैतिक को समझाते हुए बोला वह पहली बार हम लोगों से मिल रही है ना वैसे भी वह थोड़ा ज्यादा ही शर्मीली है but sher is nice Very nice.

इतने में ऋषि कोल्ड ड्रिंक लेकर आता है और वर्षा को देते हुए अक्षरा को पूछता है तब मोहित बोला ऋषि को आपस में बातें करने आई है। ना कि तुम्हारी बकबक सुनने तब नैतिक और अक्षरा वर्षा की आदेश लेकर बातें करने चला जाता है।

फिर ऋषि बोलता है वैसे सब यह क्यों बोलते हैं कि मैं बेकार की बकबक करता हूं खाने पीने की बात करना बेकार की बात हुई क्या क्यों वर्षा भाभी तब वर्षा मुस्कुराते हुए हां बोली और सभी हंस पड़े।

इधर नैतिक अपने दोस्त से हटकर अक्षरा से बातें करने के लिए एक बेंच पर बैठ जाता है और बोलता है अगर आप बुरा ना माने तो एक बात बोलूं तब अक्षरा ने हां में सिर हिलाई।

yeh rishta kya kehlata hai
yeh rishta kya kehlata hai

तब नैतिक बोला मुझे लगता है। आप लड़ते हुए कुछ खास नहीं लगती मुझे बात तो नहीं ज्यादा अच्छे लगते हैं। फिर नैतिक बोला मैंने आपको यहां बुलाया आपको बुरा तो नहीं लगा। तब अक्षरा ने नहीं में सिर हिलाया। फिर नैतिक बोला दरअसल मैं आपको यहां अपने दोस्तों से मिलवाने लाया हूं। मोहित मेरे बचपन का दोस्त है। थोड़ा कार्टून जरूर है, पर दिल का बहुत साफ है। ऋषि थोड़ा अजीब है लेकिन अच्छा है, उसे खाने पीने का बहुत अधिक शौक है। इस लेकिन इसने हमारा बहुत साथ दिया मेरे घरवाले और मेरे दोस्त ही मेरी दुनिया है। इसलिए मैं चाहता हूं। कि आप इन लोगों से मिले और हमारी शादी के बाद आपको तो झेलना पड़ेगा इन्हें भी और थोड़ा थोड़ा मुझे भी तभी अक्षरा के कुछ बाल आंखों पर आ जाती है और अक्षरा इसे हटाने लगती है। तो नैतिक इसके लिए मना कर देता है थोड़ी देर उन्हें यूं ही बिखरने दीजिए मेरे लिए तब दोनों एक दूसरे को देखते।

इधर घर पर अक्षरा की मां बेड ठीक कर रही थी कि तभी अक्षरा की चाची और दादी आ गए और अक्षरा की चाची बोली दीदी रात के खाने में क्या बनाऊं वैसे मैंने धनिया को बोल दिया कि राजमा भिगोए वैसे सब्जी में सिर्फ लौकी है।

तब राज श्री ने मना करते हुए कहा नहीं-नहीं लौकी मत बनवाना तब अक्षरा के दादी बोली हां हमें पता है कि लौकी क्यों नहीं विश्‍मवर को लौकी पसंद नहीं है ना तब सभी हंस पड़े और अक्षरा की दादी बोली अब विश्‍मवर को  लौकी पसंद नहीं है तो क्या हुआ हम सब को क्या हमें भी विशंभर की पसंद नापसंद के अनुसार चलना पड़ेगा

yeh rishta kya kehlata hai
yeh rishta kya kehlata hai

तब राजश्री बोली नहीं मां मैं तो कहती हूं आज भी आप ही खाना का निर्णय लीजिए तब अक्षरा की दादी बोले ना बाबा ना घर में दो-दो बहुएं आ गई है पोते की भी दुल्हन आ गई तो क्या अभी मुझे चूल्हे चौके में खटना पड़ेगा।

कब अक्षरा की चाची बोली नहीं मामा जी आपको करने की जरूरत नहीं है और दीदी मैं धनिया से कहकर जेठ जी के लिए पनीर बनवा दूंगी पनीर तो उन्हें बहुत पसंद है ना।

फिर राजश्री बोली धनिया से पनीर बनाने के लिए मत बोलना मैं खुद बना लूंगी पिछली बार उसने पनीर में बहुत ज्यादा मसाला डाल दिया था फिर अक्षरा के दादी बोली देख तो अपने पति के लिए खुद खाना बनाएगी तब राजश्री शरमा गई और फिर उसकी दादी बोली देख तो नई नई नवेली दुल्हन के जैसे शर्मा रही है पता है जब भी बढ़ता को देखती हूं ना तो वह दिन आ जाते हैं जब तुम दुल्हन बनकर इस घर में आई थी।

दोनों को आशीर्वाद देते हुए अक्षरा की दादी बोली भगवान से मेरी यही प्रार्थना है कि जिस तरह हमारी बहू को प्यार और सम्मान मिला इसी तरह इस घर की बेटियों को भी मान सम्मान मिले और पति का प्यार मिले जिससे उसका आंचल खुशियों से भर जाए।

इधर नैतिक और अक्षरा आपस में बात कर रहे थे कि तभी नैतिक का दोस्त नैतिक को आवाज लगाया नैतिक और अक्षरा वहां से चल पड़े अपने दोस्त के पास पहुंचकर नैतिक आपस में बात कर रहा था कि तभी वर्षा अक्षरा से पूछी कितनी देर लगा दी क्या कहा उसने तब अक्षरा बोली कुछ नहीं तब वर्षा बोली कुछ भी नहीं कहा उसने तब अक्षरा बोली मैंने ऐसा कब कहा उसने ना कुछ कहा और मैंने ना कुछ सुना तब वर्षा बोली मतलब आंखों ही आंखों में बात हुई wow so romantic.

yeh rishta kya kehlata hai
yeh rishta kya kehlata hai

तब सभी ने थोड़ी खाने की बात की और अक्षरा ने मना किया और बोली मां को पहले फोन कर देते हैं तब वर्षाने मना करते हुए यह कहा कि मैं सब संभाल लूंगी और 5:00 बजे तुम्हारा इंतजार कॉलेज में करुंगी तब वर्षा नैतिक से बोली आप इनका ख्याल रखना पहली बार किसी लड़के के साथ डेट पर जा रही है तब मोहित ने कहा वैसे यह भी पहली बार ही जा रहा है यह भी अनारी ही है फिर दोनों एक होटल के लिए चल पड़े…

आज का yeh rishta kya kehlata hai ending होता है अगले एपीसोड के लिए यहाँ क्लिक करें ।

yeh rishta kya kehlata hai live , yeh rishta kya kehlata hai latest update देखने के लिए star plus yeh rishta kya kehlata hai online पर या yeh rishta kya kehlata hai visit hotstar पर जाऍं।

निष्‍कर्ष :-

इस पोस्‍ट मे हमने यह देखा कि किस तरह से अक्षरा और वर्षा कॉलेज गई और वहॉं नैतिक से मिली और क्‍या बात की और आगे का क्‍या प्‍लान है अगल पोस्‍ट में देंखेंगे yeh rishta kya kehlata hai written update, yeh rishta kya kehlata hai upcoming story, yeh rishta kya kehlata hai latest news, yeh rishta kya kehlata hai future story, yeh rishta kya kehlata hai upcoming twist जानने के लिए हमारे पोस्‍ट को पढते रहिए।

 

Related Posts

Click Here To Translate
error: Content is protected !!