Bhakra Nangal Tehri And Idukki Dam History Best no.1 Ideas

Bhakra Nangal And Tehri Dam And Idukki Dam History

आज के इस पोस्‍ट में हम bhakra nangal dam, tehri dam dams india, और idukki dam को कब और किसनें बनवाया इसका मुख्‍य उद्देश्‍य क्‍या था। इसके बारे में जानेंगें। इस पोस्‍ट मे हम देखेंगें कि ये सभी डैम किस राज्‍य के किस जिले में है। इस डैम को कब बनवाने का काम कब शुरू किया गया और इस डैम को बनवाने में कितना समय लगा। इन डैम की लम्‍बाई कितनी है।इन सब के बारे में जानेंगें। तो चलिए आज के अपने पोस्‍ट के तरफ चलतें हैं।  

bhakra nangal dam

Bhakra Nangal डैम भारत की सबसे बड़ी बहुउद्देशीय नदी घाटी परियोजना है। जिसका मुख्य उद्देश्य सिंचाई और बिजली उत्पादन है। इस बांध से 1325 मेगावाट बिजली का उत्पादन होता है। और पंजाब हरियाणा और राजस्थान के 40,000 वर्ग किलोमीटर में फैली खेतों की सिंचाई भी की जाती है।

इस बांध का निर्माण 1948 में शुरू हुआ था और 1963 में पूरा हुआ सन् 1970 में यह पूरी तरह से काम करने लगा। भारत के सर्वप्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरु जी 22 अक्टूबर 1963 को इस बांध का उद्घाटन किए थे। और इसे देश का नया मंदिर भी बताया गया था।

bhakra nangal dam location. (bhakra nangal dam on map)

यह भाखड़ा और नंगल बांध दो अलग-अलग बांध है। परंतु एक ही परियोजना का हिस्सा है। यह दोनों बांध पंजाब और हिमाचल प्रदेश के बॉर्डर पर बने हुए हैं।

bhakra dam is on which river.

भाखड़ा बांध हिमाचल प्रदेश के बिलासपुर जिले के भाखरा गांव में बनाया गया है।

bhakra dam सतलुज नदी पर बनाया गया है, और नांगल डैम इससे लगभग 10 किलोमीटर दूर पंजाब के नांगल में बनाया गया है। और भाखड़ा बांध नांगल बांध से ऊंचाई पर बना है। इसका सारा पानी नांगल बांध से होते हुए ही जाता है। भाखड़ा बांध नंगल बांध से आने वाले तेज बहाव को कम करने का काम करता है।

अगर किसी कारण भाखड़ा बांध को कोई नुकसान पहुंच जाए तो नांगल बांध पानी के भंडार को रोक सकता है। और इसे किसी नुकसान से बचा सकता है।

भाखड़ा बांध की ऊंचाई 226 मीटर है, इसकी दीवार की लंबाई 520 फीट और इसकी दीवार की मोटाई 9.1 मीटर है, यह टिहरी बांध के बाद भारत का दूसरा सबसे बड़ा बांध है। इस बांध को बनाने में उस समय 245 करोड़ 28 लाख रुपए की खर्च आया था।

नांगल डैम 29 मीटर ऊंचा है और इस की दीवार की लंबाई 305 मीटर है।

Bhakra Nangal And Tehri Dam And Idukki Dam History

भाखड़ा बांध बहुत ही खूबसूरत जगह है जो कई पर्यट्कों को अपनी ओर खींचता है। और साल 2009 में कुछ सुरक्षा कारणों के वजह से आम आदमी को इस पर चलना मना कर दिया गया था।

अगर Bhakra Nangal  बांध किसी कारण बस टूट जाए तो पंजाब, हरियाणा के साथ-साथ पाकिस्तान का आधा हिस्सा भी बह जाएगा। और इससे लाखों लोगों मारे जाएंगे इसकी वजह से बिजली की किल्लत सालों साल खेती नहीं हो पाएगी।

इस डेम को बनाने के लिए भारत सरकार के department of  prigation ने यह काम indian planertion इंजीनियर को सौंप दिया इसके आर्केटिक मैनेजर वीर कुंवर गुप्ता थे।

इसके डिजाइन करने का काम united states bureau of reclamation को दिया गया था

bhakra dam water level

bhakra dam का water lavel अगस्‍त 2020 में 1638.85 फिट और 2021 जुलाई में 1613.55 फिट है्। इस डैम का Inflow 2020 में 44427.5 फिट और 2021 में 37092.1 फिट और Outflow (ft) 2020 मे 24209.5 फिट था और 2021 में 20935.5 फिट है। यह हमेशा एक जैसा नही रहता है। यह हमेशा बदलते रहता है।

water level किसी भी डैम का स्थिर नही रहता है। यह मौसम के अनुसार बढते या घटते रहता है।

bhakra dam pictures
bhakra dam pictures and bhakra nangal dam

tehri dam dams india.

आइए दोस्‍तों बात करतें हैं tehri dam facts के बारे में।

where is tehri dam(where is tehri dam located, tehri dam in which state)

दोस्तों में tehri dam uttarakhand के टिहरी गढ़वाल जिले में है। इस डैम की लंबाई 593 मीटर, ऊंचाई 260 मीटर, चौराई ऊपरी भाग का 25 मीटर और निचले भाग का 1100 मीटर है। यह डैम एशिया का सबसे ऊंचा डैम है और पूरे over all world में 8 वां  सबसे ऊंचा डैम है। इस डैम का जलाशय 40 वर्ग किलोमीटर में फैला हुआ है

सन् 1949 में यूपी सरकार ने इस जगह पर डैम बनाने का योजना बना ली थी (अब आपके मन में यह सवाल आया होगा कि यह डैम तो उत्तराखंड में है। तो फिर यूपी सरकार ने इस बयान का परियोजना कैसे बनाया तो दोस्तों मैं बता दूं कि उस समय उत्तराखंड यूपी में था। इसलिए यूपी सरकार ने इस बयान को बनाने की परियोजना बनाई। )

tehri dam project

इस डैम को बनाने की स्वीकृति 1972 में केंद्रीय सरकार से मिली। और इस डैम को बनवाने के कुल लागत का 75% लागत केंद्र सरकार और 25% लागत राज्य सरकार देगा इसका निर्णय हुआ था।

tehri dam on which river

टिहरी डैम दो नदियों के पानी पर बनाया गया है।

  • भागीरथी
  • भीलांगना नदी

1988 में केंद्र सरकार और राज्य सरकार दोनों मिलकर एक संस्था THDC बनाई। जिसमें तब से लेकर अब तक डैम का जो भी काम हुआ है। और वर्तमान टाइम में भी उस डैम की सारी जिम्मेदारी THDC के पास ही है।

full form of THDC

Tehri Hydro Development Corporation Limited.

इस डेम को बनवाने का मुख्य उद्देश्य बिजली उत्पादन था। और इस डैम से 2400 मेगावाट बिजली बनाई जाती है। इससे दो फेज में बिजली बनाई जाती है।

फेज़ 1.

टिहरी डैम और हाइड्रो पावर प्लांट जो जमीन के अंदर है इसे जुलाई 2006 में बनाया गया था। इससे 1000 मेगावाट बिजली उत्पन्न होती है।

फेज़ 2.

इसे भी दो भागों में बांटा गया है।

i. टीवी पंप स्टोरेज प्लांट यह भी एक पावर हाउस है यहां भी हजार मेगावाट बिजली उत्पन्न की जाती है। इन दोनों पावर हाउस के बीच में चार सुरंगे बनाई गई है। जिनकी एक सुरंग की लंबाई 6.5 किलोमीटर है। इन दोनों पावर प्लांट में 250 मेगा वाट के 4-4 जनरेटर लगे हुए हैं।

ii. दोस्तों यहां से 22 किलोमीटर हट कर एक और डैम बनाया गया है जिसका नाम है कोटेश्वर डैम यह डैम 2012 में बनकर तैयार हुआ। और इससे 400 मेगावाट बिजली की तैयारी की जाती है।

Bhakra Nangal And Tehri Dam And Idukki Dam History

tehri dam advantages and disadvantages.

इस डैम को बनवाने से लाभ :-

  • इस डैम को बनवाने से पूरे उत्तर भारत में टिहरी डैम से बिजली सप्लाई की जाती है।
  • यहां से दिल्ली और यूपी को पीने के लिए पानी भी सप्लाई की जाती है।
  • दोस्तों जिस राज्य में कोई भी डैम बनाया जाता है उस राज्य को 12% बिजली फ्री दी जाती है इसलिए उत्तराखंड को 12% बिजली फ्री दी जाती है।
  • इस डैम के पानी से 4 lakh हेक्टेयर जमीन की सिंचाई की जाती है।

टिहरी डैम के हानियां :-

  • इस डैम को बनवाने से मौसम में बदलाव होता है। जिससे अचानक बहुत तेज बारिश और ओले का गिरना।
  • यह डैम एक भूकंप जोन-4 में है। इसे भूकंप आने से इस डैम को टूटने का खतरा बना रहता है। जिसके टूट जाने से आसपास के कई शहर पूरा खत्म हो सकता है।
  • लेकिन इस डैम को रिएक्‍टर स्‍केल के तिव्रता 8 तक तिव्रता को झेलने के योग्य बनाया गया अगर इससे अधिक तिव्रता का भुकंप आए तो यह टुट सकता है। और इसके टुटने से उत्तराखंड के साथ-साथ इसका असर पूरे उत्तर भारत पर भी पड़ेगा।।

दोस्‍तों  delhi to tehri dam distance राष्ट्रिय राजमार्ग 34 के माध्‍यम  लगभग  313.7 km है। और  रेलमार्ग से 271.81 km दुर है ।

tehri dam images
tehri dam images

idukki dam

दोस्तों यह डैम भारत के केरल राज्य के ईदुक्की जिला में स्थित है। इस डैम की ऊंचाई 555 फीट के लगभग है। यह डैम दो पहाड़ों के बीच में स्थित है। कुर्बानमाला और कुर्तीमाला इस डेम को बनवाने का मुख्य उद्देश्य बिजली उत्पादन करना था इसका बिजली घर मूलमट्टम में स्थित है जो थोडुपुझा से लगभग 20 किलोमीटर दूर है और मूलमट्टम से इडुक्की बांध 43 किलोमीटर दूर है।

1922 में उड़ली जाति के प्रमुख कोलंबन ने मलंकार अधीक्षक और उसके दोस्त थॉमस को एक रास्ता दिखाया जो कि जंगल में शिकार की होड़ में थे। तभी दो पहाड़ियों के बीच पानी का बहाव देखकर थॉमस के मन में हलचल हुई। और उनके विचार ने ईदुक्की आर्च बांध के सपनों को साकार कर दिया।

1932 में त्रावणकोर सरकार को बिजली के उत्पादन हेतु ईदुक्की में एक बांध की निर्माण के लिए मलंकरा स्टेट के डब्ल्यू जे जॉन ने एक खत लिखा।

फिर त्रावणकोर सरकार ने 1947 में इसके ऊपर एक प्रारंभिक रिपोर्ट बनाई। उसके बाद विस्तृत जांच के बाद 1963 में योजना को लागू करने की मंजूरी दी गई और फिर प्रारंभिक कार्य शुरू किए गए।

Bhakra Nangal And Tehri Dam And Idukki Dam History

इस बांध का निर्माण 30 अप्रैल 1969 को शुरू किया गया। और फरवरी 1976 में माननीय प्रधानमंत्री श्रीमती इंदिरा गांधी के द्वारा इसका उद्घाटन करवाया गया। इस पर सबसे पहले मशीन ट्रायल के लिए 4 अक्टूबर 1975 को चलाया गया।

यहां से 780 मेगावाट बिजली उत्पन्न की जाती है जिसके लिए 670 मीटर ऊंचाई पर से पानी को टरबाइन पर गिराया जाता है।

idukki dam water level 2,368.90 फीट जुलाई 2021 के अनुसार।

idukki dam contact number

  • फोन:- +91-471-2321132
  • फैक्स:- +91-471-2322279
  • पर्यटक सूचना टोल फ्री नंबर:- 1-800-425-4747

Bhakra Nangal And Tehri Dam And Idukki Dam History

idukki dam wiki

यह डैम केरल राज्‍य के इडुक्‍की जिले में है। इस डैम को बनाने का कार्य 30 अप्रैल 1969 मे शुरू किया गया था। यह डैम पेरियार नदी पर दो पहारियों के बीच बनाया गया है। (1. कुर्बानमाला 2. कुर्तीमाला ) इस डैम को बनबाने का मुख्‍य उद्देश्‍य बिजली का उत्‍पादन करना था। यहॉं से 780 मेगावाट बिजली की उत्‍पत्‍ती की जाती है।

idukki arch dam visiting time :-

सोमवार 10.00 बजे सुबह से लेकर संध्‍या 5.00 बजे तक

मंगलवार 10.00 बजे सुबह से लेकर संध्‍या 5.00 बजे तक

बुधवार 10.00 बजे सुबह से लेकर संध्‍या 5.00 बजे तक

गुरूवार 10.00 बजे सुबह से लेकर संध्‍या 5.00 बजे तक

शुक्रवार 10.00 बजे सुबह से लेकर संध्‍या 5.00 बजे तक

शनीवार 10.00 बजे सुबह से लेकर संध्‍या 5.00 बजे तक

रविवार 10.00 बजे सुबह से लेकर संध्‍या 5.00 बजे तक

places to visit near idukki dam

  • Hill View Park
  • Cheruthoni Dam
  • Ramakkalmedu
  • Kurisumala Ashram
  • Thrissanku Hills
tehri dam image
tehri dam image

 

निष्‍कर्ष:-

दोस्‍तों आज के पोस्‍ट में हम bhakra nangal dam, bhakra nagar dam, bhakra dam water level, tehri dam dams india, tehri dam facts, idukki dam, idukki dam wiki, idukki arch dam visiting time के बारे में जाना।

उम्‍मीद करता हुं कि आपको यह पोस्‍ट अच्‍छा लगा होगा आपको यह पोस्‍ट कैसा लगा  कमेंट बॉक्‍स में कमेंट कर अवश्‍य बताएं।

Related Posts

Click Here To Translate
error: Content is protected !!